God’s existence

Spread the love

A man went to a barber shop for haircut. Often people are waiting for their turn to such stores, and this time the discussion of cinema, politics and sports are discussed. But today the atmosphere of the shop was devotional and there was discussion about the existence of God.

The haircut boy said that he believes in karma. If he does not do karma then how will he earn? If there is a God, there is no need to do anything. The one who can find the same. That is why he does not believe in God’s existence.

He started to say that if God exist, so many people would not be sad, so many children were not orphaned?  He said that I can not think of such a God who would allow all these things to happen. You tell me where is God?

After cutting hair, the man stood waiting for somebody standing outside the barber shop for some time. After a while, an older man with a long bearded mustache appeared on the shop.

The man standing outside told the barber that seeing this man does not seem to be a hairdresser in the world, Otherwise his hair and beard would not be so big? Barber began to say that how are not good hairstyles I stand in front of you and now even cut your hair.

Barber began to say that despite the hairdressing, many people do not cut hair. The man told the hairdresser that as many people do not come to haircut while you are there. In the same way, many people do not try to find and meet them even when they are God. This is why so much suffering in this world is a pain.

Kabir Vani

Hindi Translation-

आदमी बाल कटवाने के लिए नाई की दुकान में गया। अक्सर ऐसी दुकानों में लोग अपनी बारी का इंतज़ार करते हैं और इस समय मुख्यतया सिनेमा, राजनीति और खेल जगत इत्यादि की चर्चा होती है। लेकिन आज दुकान का माहौल भक्तिमय था और वहां भगवान के अस्तित्व को लेकर चर्चा हो रही थी।

बाल काटने वाले नाई ने कहा कि वह तो कर्म में विस्वास रखता है। यदि वह कर्म ही नहीं करेगा तो कमाऐगा कैसे? भगवान होते तो कुछ करने की ज़रूरत ही नहीं होती। जो माँगते वही मिल जाता। इसलिये वह भगवान के अस्तित्व को नहीं मानता।

वह कहने लगा कि अगर भगवान होते तो इतने  लोग दीन दुखी न होते, इतने बच्चे अनाथ न होते ? वह बोला कि मैं ऐसे भगवान के बारे में नहीं सोच  सकता जो इन सब चीजों को होने दे। आप ही बताइए कहाँ है भगवान?

बाल कटवाकर वह आदमी कुछ देर नाई की दुकान के बाहर खड़ा होकर किसी का इंतज़ार करने लगा।कुछ समय बाद एक  लम्बी  दाढ़ी मूंछ वाला एक अधेड़ व्यक्ति दुकान की तरफ आता दिखाई पड़ा। उसे देखकर लगता था मानो कि उसने कितने महिनों से बाल न कटवाये हों।

बाहर खड़े आदमी ने नाई से कहा कि इस आदमी को देखकर लगता है कि दुनिया में नाई नहीं है वरना इसके बाल और दाढ़ी इतने बड़े न होते? नाई कहने लगा कि भला नाई कैसे नहीं होते मैं तुम्हारे सामने ही खड़ा हूँ और अभी आपके बाल भी काटे।

नाई कहने लगा कि नाई के होते हुए भी बहुत से लोग बाल ही नहीं कटाते। आदमी ने नाई से कहा कि जैसे तुम्हारे होते हुए भी बहुत सारे लोग बाल कटवाने नहीं आते उसी प्रकार भगवान होते हुए भी बहुत से लोग उनको खोजने और मिलने का प्रयास ही नहीं करते। इसी कारण इस दुनिया में इतना दुख दर्द है।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *